Wasp Information in Hindi – ततैया किट की जानकारी

By | October 29, 2019

ततैया एक प्रकार का सामाजिक कीट है जिसे Wasp insect के नाम से जाना जाता है और जिसे घरों के आस-पास अक्सर देखा जाता है | यह एक ऐसा कीट है, जो न तो मधुमक्खी है और न ही चींटी | यह ततैया एक ऐसे प्रजाति से सम्बंधित कीट है, जो ज्यादातर हमारे घरो के दीवारों में अपना घर बनाकर रहते |

Tataiya or Wasp Insect

तो चलिए जानते हैं, इस ततैया कीट के बारे में की यह किस प्रकार का कीट है तथा इसके फायदे एवं नुकशान कौन से हैं |

English name: Wasp
Scientific name: Vespula germanica
Family:

परिवार / About Wasp Family

ये ततैया कीट नरम वातावरण वाले स्थानों में रहने वाले कीड़े हैं, जो ज्यादातर बरसात तथा ठंडी के मौसम में नजर आते हैं | यह दिखने में हल्के भूरे, हल्के नारंगी रंग तथा भूरे रंग में होते हैं | आम तौर पर यह कीट ज्यादा बड़ा नहीं होता है, जिसकी औषत लंबाई लगभग 2 से 4 इंच हो सकती है | इस कीई की सबसे आवश्यक चीज इसकी सूंढ़ है, जो इसके मुंह के आगे की और छोटी से होती है | इस कीड़े के मुख्यतः 3 जोड़े यानि 6 पैर होते हैं, जिसमे इसके आगे के दो पैर सबसे ज्यादा उपयोग में आते हैं | इसके अलावे इस कीट के बाकी के पैर इसे उड़ने में मदद करते हैं | ततैया कीट की दो मुख्य पंखे भी होते हैं, जो इसके उड़ने में काफी मदद करती है |

परजतियाँ / Varieties

Wasp Insect varieties

इस ततैया की पूरे विश्व में लगभग 75,000 के आस-पास प्रजातियाँ पाई जाती है, जो आम तौर पर 2 से 3 इंच लंबे होते हैं |

जीवनकाल / Lifespan of Wasp

इस ततैया कीट की औसत उम्र लगभग 12 महीने होते हैं, जिसमे मादा ततैया के जीवनकाल में हल्का परिवर्तन होता है | बाँझ मादा ततैया कीट की औसत उम्र लगभग 12 से 22 दिन होती है तथा उपजाऊ मादा कीटो की औषत उम्र 10 से 12 महीने के आस-पास होते हैं |

अगर सरल भाषा में समझे तो रानी मक्खी (जो की अंडे देती है) उसकी औसत आयु 1 year तक होती है | जबकि काम करने वाली मादा ततैया का जीवन 12 से 22 दिन तक हो सकता है, वही नर wasp का जीवन 15 से 30 days तक हो सकता है |

भोजन / Food

ये ततैया कीट आम तौर पर चीटियों, मधुमक्खियों, मक्खियों तथा मकड़ियों आदि जैसे कीटों को खाकर ही जीवित रहते हैं | इसके अलावे ऐसा कहा जाता है की, ये कीटे घोसला करने वाली पक्षियों को भी अपना शिकार बना लेती हैं | ऐसा भी माना जाता है की, ये ततैया कीटे भी शहद जमा करती हैं |

फायदेमंद / Benefits of Wasp

  • ये ततैया हमारे फसल को बर्बाद करने वाले कैटरपिलर जैसे कई कीटों को खाते हैं तथा उन्हें ख़त्म करते हैं |
  • ये हमारे फसलो के बिच रहते लेकिन उन्हें बर्बाद नहीं करते |

नुकशान / Disadvantage of Wasp

  • आम तौर पर इस ततैया को एक जहरीले डंक वाले कीट के नाम से जाना जाता है |
  • यह ततैया अगर किसी भी इंसान पर हमला करता है, तो वह हानिकारक हो सकता है |
  • इसके डंक में होने वाले विश से संक्रमित स्थान में सूजन, घाव या जलन होने की संभावना हो सकती है |

ततैया के डंक मारने के बाद उसे ठीक कैसे करे / How to treat Wasp sting

इस ततैया के डंक मारने के बाद इसे ठीक करने के लिए घरेलु उपचार निम्नलिखित प्रकार से बताए गए हैं |

  • इसके डंक मारने के तुरन्त बाद विष को हटाने के लिए सबसे पहले उसके सूंढ़ को संक्रमित स्थान से निकाले तथा उस स्थान को अच्छी तरह से साबुन से धोए |
  • संक्रमित स्थान में होने वाले दर्द को रोकने के लिए उस स्थान को हमेशा साफ़ तथा सुखा रखे |
  • उस घाव या सूजन को ठीक करने के लिए नीम के पत्तियों को पीसकर उसके लेप को लगाने से उसे ठीक किया जा सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *