रबर वृक्ष – Rubber Plant Information in Hindi

By | January 4, 2020

यह रबर एक सुंदर पौधा है, जो अपनी पत्तियों के लिए प्रसिद्द है | यह Mulberry परिवार से सम्बंधित एक पौधा है, जिसका वैज्ञानिक नाम Ficus elastica है | इस पौधे को एक सजावटी पौधे के रूप में लगाया जाता है, जो एशिया तथा ऑस्ट्रेलिया का मूल निवासी है | यह पौधा आम तौर पर रबर प्लांट, रबर ट्री तथा आम रबड़ ट्री के नाम से जाना जाता है | परन्तु क्या आप जानते हैं, यह रबर का पौधा कैसा होता है, इसके गुण एवं लाभ किस प्रकार के हैं तथा इसे किस प्रकार से लगाया जाता है |

Rubber Plant

तो चलिए जानते हैं की, यह रबर का पौधा कैसा होता है, इसे किस प्रकार से उगाया जाता है तथा इसके गुण एवं फायदे किस प्रकार के हैं |

English Name: Rubber plant
Scientific Name:
Ficus elastica
Hindi Name: रबर के पौधे 
Family Name:
Mulberry

परिचय / Introduction

यह रबर एक सदाबहार पौधा है, जो एक प्रकार का हाउस प्लांट है | इस पौधे की औशत ऊँचाई लगभग 2 से 5 मीटर के आस-पास होती है | इस पौधे की शाखाएं हल्के पतले, सीधे एवं पत्तियों से भरे हुए होते हैं | इन पौधों को लगाने से यह घर में होने वाले दूषित वायु को शुद्ध करने में बेहद मदद करता है | इस पौधे में कई औषधीय गुण भी पाए जाते हैं, जिसे अनेक रोगों के उपचार में उपयोग किया जा सकता है |

पत्तियां: इस रबर के पेड़ की पत्तियों के ऊपर की सतह गहरे हरे रंग में चिकने होते हैं तथा इसके निचेर की सतह हल्के हरे रंग में होती है | इसके कुछ प्रजतियों के पत्तियां हरे के साथ-साथ हल्के लाल तथा हल्के सफेद भी होते हैं | ये पत्तियां दिखने में हल्के गोल तथा अंडाकार आकार के होते हैं, जिनकी औषत लंबाई लगभग 10 से 25 इंच के आस-पास होती हैं | ये पत्तियां आम तौर पर कार्बन डाइऑक्साइड गैस लेते हैं तथा हमें शुद्ध ऑक्सीजन प्रदान करते हैं |

फूल: इस पौधे के फूल सफ़ेद रंग में खिले हुए होते हैं, जो दिखने में बहुत ही खूबसूरत लगते हैं | इस रबर के फूल की पंखुडियां हल्के छोटे तथा गोल आकार में होते हैं, जो बहुत ही प्यारे लगते हैं | इस फूल के पंखुड़ियों के बीच एक हल्के पीले रंग का सिर होता है |

जीवनकाल/ Lifespan

आम तौर पर रबर पौधे के औषत जीवनकाल लगभग 10 से 12 साल के आस-पास होती है, परन्तु अगर इस पौधे की देख-भाल ठीक प्रकार से की जाए तो यह लगभग 15 से 20 वर्षों तक जीवित रह सकता है |

उपयोग एवं फायदे /Uses & Benefits of Rubber Plant

Rubber plant leaf and flower

  • इसका उपयोग एक प्रकार से सजावटी पौधे के रूप में किया जाता है |
  • यह पौधा हमारे घर में पायी जाने वाली प्रदूष्ण को दूर करने में मदद करता है |
  • यह हमें किसी भी एलेर्गिक समस्या का शिकार नहीं होने देता है |
  • इसके पेड़ के छाल को छीलकर उनसे रबर निकाला जाता है |

इसे भी जानिए की air purifier plants कौन-कौन से हैं?

प्रजातियाँ/ Species

  • Robusta
  • Decora
  • Ficus Burgundy Rubber Plant
  • Abidjan
  • Ficus microcarpa
  • Ficus carica
  • Ficus benghalensis
  • Benjamina ficus

रोचक तथ्य / Interesting facts of Rubber Plant

  • NASA के रिसर्च में यह सामने आई है की रबर के पौडे घर के वातावरण के साथ हवा को भी साफ़ करते हैं |
  • इसे लगाना काफी आसान होता है और इसकी देखभाल करने में ज्यादा समय भी नहीं देना पड़ता है |
  • यह एक खुबसूरत सा पौधा है, जिसे सजावटी पौधे के रूप में भी लगाया जाता है |
  • इसकी पत्तियां हल्के लाल या नारंगी के साथ हरे होते हैं, जिससे ये खुबसुरत लगते हैं |
  • इसे घर के अन्दर  लगाने से यह रबर का पौधा दूषित हवा को शुद्ध करता है |

खेती / Farming

पौधा लगाने की विधी:

आम तौर पर इस पौधे को लगाने के लिए ज्यादा मेहनत करने की आवश्यक्ता नहीं होती है | तो चलिए जानते हैं की, इस पौधे को किस प्रकार से लगाया जाता है |

जलवायु: इस पौधे को लगाने के लिए हल्के नरम जलवायु की आवश्यकता होती है, क्यूंकि यह ज्यादा ठंड या ज्यादा गर्मी बर्दाश्त नहीं कर पाता है |

धूप: इस पौधे को अधिक रौशनी की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए इसे ऐसे स्थान में रखें जहाँ पर सूरज की किरने आसानी से पड़ती हो | गर्मियों के दिनों में इसे दोपहर के समय में इसे धूप की किरने से बचा कर रखे |

मिट्टी: इस पौधे को लगाने के लिए दोमट मिट्टी की आवश्यकता होती है, जो उपजाऊ हो | इसलिए इसे लगाने से पहले मिट्टी की जांच ठीक प्रकार से करले |

पौधा रोपण: इस पौधे को लगाने के लिए मिट्टी को अच्छी तरह से गमले में तैयार करले तथा उसमे लगभग 10 से 12 इंच गड्ढे करले | उसके बाद पौधे को ठीक प्रकार से लगाएं तथा उसके जड़ में अच्छी तरह से मिट्टी डाले |

पानी: इसके पौधे को लगाने के तुरंत बाद इसमें अच्छी से पानी डाले ताकि पौधा सही तरीके से लग जाए | इसे लगाने के बाद इसमें रोजाना आवश्यकता अनुसार पानी डाले तथा एक हफ्ताह के बाद इसमें पानी प्रत्येक 4 से 5 दिनों में डाले |

खाद एवं उर्वरक: इस पौधे को लगाने के कुछ दिनों बाद जब पौधे में वृधि हो रही है, तो इसमें खाद ना डालने का प्रयास करे | परन्तु अगर इसमें किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती है या पौधा खराब होने लगे तब इसमें खाद डालने का प्रयास करे |

देखभाल कैसे करे / Care

आम तौर पर कभी-कभी ऐसा होता है की, पौधे में कीट लगने लगते हैं तो पौधे में कीटनाशक दवा का उपयोग अवश्य करे ताकि आपका पौधा सही सलामत रहे | इसके अलावे कभी-कभी पौधे की पत्तियां सड़ने भी लगते हैं, तो उन पत्तियों को जल्द से जल्द हटा देने का प्रयास करे अन्यथा पूरा पौधा खराब हो सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *