सदाफूली की जानकारी – Periwinkle Flower in Hindi

By | August 18, 2019

हर घर में पाए जाने वाला Periwinkle Flower को सदाफूली के नाम से जाना जाता है | दोस्तों हमेशा की तरह आज हम एक ऐसे फूल के बारे में बात करने जा रहे है जो की सदाबहार फूल है और इसे सदाफूली या सदाबहार के नाम से हीं जाना जाता है । जी हाँ दोस्तों हम Periwinkle flower की बात कर रहे है जिसे Hindi में सदाफूली या सदाबहार फूल कहा जाता है । हम आपको इस फूल से जूरी बहुत सी जानकारियां देने जा रहे है । तो आये जानते है हिंदी में Periwinkle flowers से जुडी जानकारी |

Periwinkle Flower

सदाफूली  का परिचय / Introduction of Periwinkle Flower

Periwinkle flower यानि की सदाबहार फूल का binominal name “Catharanthus roseus” है। यह फूल Apocynaceae जो की एक प्रकार के फूल का पौधा होता है उसी कुल का सदस्य कहलाता है। चूँकि ये फूल सालो भर खिलता है इसलिए इसे सदाबहार या सदाफूली के नाम से हीं जाना जाता है। इसके पौधे को कभी-कभी विन्का माइनर भी कहा जाता है । इसे आमतौर पर Madagascar Periwinkle भी कहा जाता है। Periwinkle vinca minor से इस पौधे के कुछ और आम नाम दिए गये :

  • Lesser periwinkle
  • Periwinkle myrtle
  • Creeping periwinkle
  • Dwarf periwinkle

एक आम Periwinkle flower को पहली बार 1700 के दशक में उत्तरी अमेरिका में एक सजावटी के रूप में पेश किया गया था। आज भी आमतौर परइस फूल को सजावटी के रूप में हीं बेचा जाता है। भारत में इसे कई अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे की उड़िया में इस फूल को अपंस्कांति कहते है तमिल मेंलोग इसे सदाकाडु मल्लिकइ नाम से जानते है , पंजाबी  में इस को रतनजोत कहा जाता है वहीँ  बांग्ला  में इस फूल को नयनतारा या गुलफिरंगी कहते है । सदाफूली जो की इसका आम नाम है आमतौर पर इसे मराठी में बोला जाता है।

प्रजातियाँ / Varieties

White periwinkle flower

Periwinkle flower के कुल 8 प्रजातियाँ पाई जाती है जिनमे से 7 प्रजातियाँ मेडागास्कर में पाए जाते है और केवल एक प्रजाति भारतीय उपमहाद्वीप में देखने को मिलता है पायी जाती है। इस फूल का पौधा खुले में बहुत अच्छी तरह से उगता है, गर्मियों में ये घर के खिड़कीयों पर भी देखा जाता है। एक आम Periwinkle plant को अक्सर खड़ी पहाड़ियों के बीच रेंगते हुए देखा जाता है। इसे कंटेनर, खिड़की के बक्से और हैंगिंग बास्केट में भी लगाया जा सकता है।

पौधा / Periwinkle  Plant

सदाबहार यानि की Periwinkle flower के पौधे की maximum ऊँचाई 1 meter तक होती है । इस फूल का पौधा झाड़ियों के रूप में बढ़ता है और इसकी काँट छाँट की कभी आवश्यकता नहीं पड़ती है । सदाबहार फूल के पौधे आमतौर पर इतने जानदार होते है कि बिना किसी देख रेख के भी ये बहुत अच्छे से एक सम्पूर्ण छोटे झाड़ी का रूप ले सकते है ।

फूल / Periwinkle Flower

Periwinkle सिंगल, पांच पंखुड़ी वाले फूलों का उत्पादन करता है जो लगभग 1 इंच लंबा और 1½  इंच चौड़ा होता है । यह फूल आमतौर पर तीन रंगों में अधिक खिलते है : गुलाबी, बैंगनी और सफेद । इसके अलावा इस कई जगहों पर लाल , गहरा गुलाबी या फिर दो रंगों का मिश्रण वाला फूल भी देखने को मिलता है । इस फूल में कुल पांच पंखुरियाँ होती है । यह फूल छोटे हो सकते हैं लेकिन ये निरंतर पौधे पर खिले हुए देखने को मिलती है, विशेष रूप से गर्म के मौसम के दौरान जब कई अन्य पौधे कोई फूल प्रदान करते हैं।

इस तरह के और भी कई सुन्दर फूल हैं जैसे की आईरिस फूलगंधराज फूल, ब्रहमा कमल  आदि जिससे जुडी जानकारी आप यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं |

पत्ते / Leaf

Periwinkle फूल के पत्ते अंडाकार shape में होते है । अंडाकार के आकार का इसका पत्ता गहरे हरे रंग का होता है की मजबूत तने के विपरीत दिखाई देते हैं । पत्तियां बहुत चमकदार और लंबी होती हैं, जिसमें एक स्पष्ट सफेद केंद्र शिरा होता है। इस फूल की पत्तियां, जड़े और इसकी डंठलों से दूध निकलता है जो की विषैला होता है और इस का स्वाद भी कशैला होता है । इसकी पत्तियाँ जब टूट कर मिट्टी पर गिरती है तो इसमें मौजूद जहरीले पदार्थ मिट्टी में उपस्थित सभी हानिकारक रोगाणुओं को ख़त्म कर देती हैं। जब पत्तियां लटकती हो और सामान्य रूप से गिरती हो तो समझ लें की गमले में लगा पेरिविंकल पौधा अधिक सूख गया है।

बीज / Seeds

इस फूल के फल follicle प्रकार के होते है और एक इसके फल में कई सारे बीज होते हैं। इसके फल गोलाकार shape में होते हैं। आमतौर पर सदाबहार को उगाने के लिए बीज और कटिंग का उपयोग किया जाता है ।

मिट्टी / Soil

Periwinkle plant in a Garden

पेरिविंकल अच्छी तरह से सूखा, दोमट, मिट्टी या फिर रेतीली मिट्टी में बढ़ता है । सही मायने में यह पौधा अक्सर निष्क्रिय हो जाता है यदि मिट्टी में बहुत अधिक कार्बनिक पदार्थ होते हैं। लेकिन फिर भी इसके पौधे को उगाने के लिए सबसे अच्छा रेशेदार दोमट मिट्टी को कहा गया है साथ हीं इसमें थोड़ी सी कंपोस्ट खाद भी मिलाने की सलाह दी जाती है । 

बीज रोपण / How to Plant

आप वर्ष के किसी भी समय बीज बो सकते हैं लेकिन जनवरी से अप्रैल के माध्यम से तक बीज  बोना सामान्य है। इसके बीज बहुत हीं हलके होते है जिसमें 1 ग्राम में लगभग 700 से 800 बीज होते हैं। इस फूल की खेती आमतौर पर 3 से 4 महीने के लिए हीं होती है और इसके बीज को रोपने  2 से 3 सप्ताह पहले हीं अंकुरित कर लिय जाता है । इसके बीज को सामान्य पोटिंग मिट्टी में बोया जाना चाहिए और रेत की एक पतली परत के साथ कवर किया जाना चाहिए। जब मौसम अधिक गर्म होता है, तो पौधों को प्रतिदिन पानी देना पड़ सकता है। 

जलवायु / Climate

पेरिविंकल सूरज के पूरे दिन का आनंद लेता है, यह आंशिक छाया में भी अच्छे से पनपता है । कई वार्षिक फूलो की तरह, पेरिविंकल सूखे और गर्मी के लिए उल्लेखनीय रूप से प्रतिरोधी है। उत्तरी जलवायु में, यह आमतौर पर केवल एक वर्ष तक रहता है। वहीँ गर्म जलवायु में, यह एक बारहमासी के रूप में विकसित हो सकता है।

पर्यावरणीय प्रभाव

Periwinkle flower एक evergreen पौधा होता है। जिस जिस जगह पर इसके पौधे को उगाया जाता है उसके आस-पास हमेशा हरियाली छाई रहती है। जैसा की हमने आपको पहले भी बताया की इस फूल के पत्ते, जड़े और इसकी डंठल का taste हल्का कसैला होता है जिसके कारण herbivores पशु इस पौधे से दूर भागते है । इसके पौधे के आस-पास कीड़े मकौड़े , सांप , बिच्छू आदि नहीं भटकते हैं, जिसकी वजह से इसके इर्द गिर्द सफाई बनी रहती है | यह भी एक तरह है benefits है, जिससे आप Periwinkle को अपने बागीचे में लगा कर कीड़े, बिच्छू  आदि से छुटकारा पा सकते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *