Pansy Flower in Hindi

By | April 18, 2019

Pansy Flower एक प्रकार का बड़े फूलों वाला हाइब्रिड पौधा होता है, जिसकी खेती बगीचे की प्रवाह के रूप में की जाती है। Pansy को Hindi में बनफूल या पांसे के नाम से जाना जाता है | इस फूल को  उसके पूर्वज “वायोला” से जोड़ा जाता है। वियोला एक बड़ी जीनस है जिसमें 500 प्रजातियां होती हैं। आज के हाइब्रिड pansy के पौधे गर्मी के लिए अधिक अनुकूल होते हैं और यह पहले से बड़े फूल दिखाई देते हैं। आइये अब इस flower के बारे में और भी ख़ास बाते जानते है ।

Pansy Flower information in Hindi

बनफूल की संक्षिप्त  जानकारी – Brief Information about Pansy Flower

Pansy का फूल लगभग 5 से लेकर 8 सेंटीमीटर यानि की 2 से 3 इंच व्यास का होता है और फूलों की केंद्र से निकलने वाली हल्की दाढ़ी के साथ दो थोड़ा अतिव्यापी ऊपरी पंखुड़ी, दो पक्ष पंखुड़ी, और एक नीचे की पंखुड़ी होती है। ये पंखुड़ियां आमतौर पर सफेद, पीला, बैंगनी, नीला रंग की होती हैं । इसके पत्ते हलके हरे, मोटे नोकदार और अंडाकार या दिल के आकार के होते हैं।

बनफूल पौधे की ऊचाई – Height

Colorful Pansy flower info in Hindi

Pansy flower के पौधे लगभग 23 सेमी की ऊंचाई तक बढ़ सकता है और यह सूरज की अलग-अलग डिग्री और अच्छी तरह से सूखा मिट्टी में तरजीह देता है। इस फूल का पौधा अपने आप में कॉम्पैक्ट होता हैऔर यह ऊंचाई और प्रसार दोनों में 9 इंच से अधिक नहीं होता है ।

पौधे के लिए उचित तापमान – Climate

Pansies का पौधा वसंत में खिलने वाले सबसे starting फूलों वाले पौधों में से एक पौधा है । इसके पौधे को पूर्ण रूप से सूर्य की आवश्यकता पड़ती है । दिन के समय में यह पौधा लगभग 16 डिग्री Celsius और रात को 4 डिग्री के आसपास की temperature को बर्दास्त कर सकता है ।

बनफूल को कैसे लगाये – How to Plant Pansy 

Pansy flower care

Pansy के पौधे को बीज के जरिये उगाया जाता है। इसके बीज को सीधे अपने फूलों के बगीचे में या फिर किसी गमले में घर के अन्दर भी बोया जा सकता है। आइये अब जानते है की इसके बीज को कैसे और कब बोया जाता है :-

  • इसके बीज को अपने क्षेत्र के अंतिम ठंढ की तारीख के बाद अपने बगीचे में रोपना सही रहता है ।
  • ठण्ड के खत्म होते हीं बीज बोया जा सकता है , इसे बोने के लिए मिट्टी में लगभग 1/8 इंच की खुदाई कर के बीज को बो दें और फिर उसे हल्के किसी चीज से कवर कर दें ।
  • उसके बाद मिट्टी में अच्छी तरह से पानी दें । कुछ हीं दिन में आप देखेंगे उसमे धीरे-धीरे अंकुरित होने लगे है ।
  • अब पौधे पर से कवर को हटा कर उसे धूप में रख दें ।

देखभाल कैसे करे – How to take care of Pansy Flower

Pansy flower के पौधे में शायद ही कभी कीड़े और बीमारी की समस्या पाई जाती है। यदि कीट या रोग की समस्या होती है, तो जैविक या रासायनिक कीट रिपेलेंट्स और कवकनाशी के साथ जल्दी से इलाज करें। 2 इंच कार्बनिक सामग्री को इसके पौधे के चारों ओर मलने से नमी को संरक्षित करने में मदद मिलेगी साथ हीं इससे खरपतवार के विकास को कम किया जा सकता है।

पानी देते समय केवल मिट्टी को हीं पानी दें पौधे को नहीं । सामान्य सूर्य की कारणों में यह पौधा  विफल रहता है। यही इसे पर्याप्त पानी नहीं मिला तो इसके पौधे पर कम फूल लगने की संभावना होती है ।

कुछ ख़ास बातें – Facts :

  • पांसे फ्लावर को हिंदी में बनफूल से जाना जाता है |
  • बनफूल एक सुगंधित बागानों में खिलने वाला पौधा हैं। पांसे की वाइला परिवार से संबंद्ध रखती है जिसकी लगभग 500 प्रजातियां पाई जाती हैं।
  • पांसे फूल में पांच पंखुड़िया एक साथ होती हैं जो गोल आकार में होते हैं।
  • पांसे के फूलों में तीन मुख्या रंग होते हैं पहला मिला हुआ पीला और नीला। दूसरा जिसकी काली रेखाएं अपने केंद्र से निकलती है जिसे पेंसिलिंग आकर कहा जाता है अंतिम प्रकार के फूल में एक डार्क सेंटर होता है जिसे “फेस” भी कहा जाता है।
  • पीले और नीले पांसे के फूलों में सबसे अधिक सुगंध होती है।

बनफूल के फूल मुख्यता  सर्दियों के दौरान खिलती है यह यूरोप और पश्चिमी एशिया में पाई जानेवाली जंगली फूल है इसलिये इसे बनफूल कहा जाता है |

  • अन्य फूल के पौधे के तुलना में पांसे का फूल अपेक्षाकृत रोग और कीट मुक्त खिलता है। सभी मौसमों के लिए यह पौधा है।
  • आयुर्वेदिक एव हर्बल औषधीय गुणों के चलते दवाइयों में उपयोग किया जाता है |
  • विलियम शेक्सपियर अपनी पुस्तक रचना में रोमांस को प्रेरित करने के लिये इसका प्रयोग किया था |
  • पांसे के फूल का जीवन चक्र दो साल होता है। लगभग 1 से 3 इंच व्यास के आकर के फुल होते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *