जामुन का पेड़ – Jamun Tree Information in Hindi

By | February 27, 2019

जामुन का पेड़ जो की एक सदाबहार वृक्ष कहलाता है यह भारत  के अलावा दक्षिण एशिया के कई  सारे देशों में और इण्डोनेशिया में भी पाया जाता है। इस पेड़ पर लगने वाले फल का नाम हीं “जामुन” है । जामुन का पेड़ काफी विशाल होता है, यह पेड़ लगभग 30 से 35 फीट तक लम्बा होता है । यह एक ऐसा वृक्ष है जो की रोपण के बाद कम से कम 35 से 50 सालो तक फल देता रहता है । आइये अब जामुन के पेड़ के बारे में कुछ और खास बाते जानते है ।

  • Hindi Name: जामुन का पेड़
  • English Name:  Java Plum / Jamun Tree
  • Scientific Name: Syzygium cumini

Blackberry Tree Jamun ka Ped

पत्ते और छाल

इसके पत्ते दिखने में कुछ कुछ आम और मौलसिरी के पत्तो की तरह होते है और यह लगभग 10 से 15 इंच लम्बे व 3 से 4 इंच चौड़े होते है । इस पेड़ का छाल भूरा होता है और यह बहुत हीं चिकना व लगभग 2.5 cm मोटा होता है ।

फूल

फल देने से पहले मार्च से लेकर अप्रैल तक जामुन के पेड़ पर छोटे छोटे पीले रंग के फूल खुलते है जो की बहुत हीं सुगन्धित होते है ।

आयु

जामुन के पेड़ के औसत आयु (lifespan) 50-60 साल होती है पर कई बार यह 100 साल भी जीते हैं | ऐसे कई और भी पेड़ हैं जैसे करी का पेड़, या गुलमोहर का पेड़ जिसकी आयु लम्बी होती है |

फल

जामुन का पेड़ June से लेकर July तक फल देता है । इस पेड़ पर लगने वाले फल यानि की जामुन एक बहुत लोकप्रिय फल है। यह फल यानि की जामुन बहुत हीं रसीला और गुद्देदार होता है । इसके अन्दर एक बीज भी होता है जिसका उपयोग कई प्रकार के दवाइयों को बनाने में किया जाता है । कच्चा रहने पर जामुन का रंग हरा होता है और जब ये फल पाक जाता है तो ऊपर से इसका रंग काला और भीतर से गहरा बैगनी रंग का होता है । खाने में ये फल हल्का कस्सा और खट्टा मीठा लगता है ।

यह फल glucose व फ्रक्टोज का मुख्य स्रोत कहलाता है । इसमें सबसे ज्यादा खनिजों की मात्रा होती है । दोसरे फलो के मुकाबले में यह फल low calories प्रदान करता है। एक छोटा shape का जामुन लगभग 3-4 कैलोरी प्रदान करता है। इसके अन्दर के बीज में काबोहाइट्ररेट, प्रोटीन और कैल्शियम पाई जाती है । इसके अलावा इस फल में iron , vitamin B,  कैरोटिन, मैग्नीशियम और फाइबर भी पाया जाता है।

 जामुन के पेड़ की देखभाल

अच्छे फल की प्राप्ति के लिए किसानो का कहना है की जामुन के पेड़ की खास देखभाल करनी होती है । इसके लिए समय-समय पर पेड़ों की छंटाई करते रहना पड़ता है क्योंकि यह पेड़ काफी लम्बा होने के साथ काफी लम्बे समय तक फल भी देता है । जामुन का पेड़ काफी लम्बा होता है इसलिए इसके फल को पेड़ पर चहड़ कर तोड़ पाना थोड़ा मुश्किल है, कई बार फल के लिए पेड़ की शाखाओं को हिलाना पड़ता है ताकि पके हुए फल खुद नीचे गिर जाये । ऐसा करने से शाखाओं का टूटने का डर तो रहता हीं है साथ हीं फल भी गीर कर ख़राब हो जाते है । इसलिए समय समय पर पेड़ की छटाई करते रहना चाहिए ताकि फल को आसानी से तोड़ा जा सके ।

कुछ खास बातें 

  • जामुन का वृक्ष घना लम्बा और कई शाखाओ से भरपूर होता है इसकी छाल हल्की काले और भूरे रंग की मोटाई 3 से 2.5 मी.मी. तक की होती है|
  • जामुन के पते हरे रंग की नुकीली उबार और चमकदार होती है |
  • जामुन मधुमेह में अत्यंत लाभकारी होता है यह औषधीय गुणों से भरपूर होता है | इसे रामबाण के तरह इस्तेमाल किया जाता है |
  • फल परिपूर्ण होने पर गहरे नीले-काले रंग की अंडाकार रूप में होती है |
  • ग्रीष्म ऋतू के जुन-जुलाई माह में फल आते है | खाने में स्वाद मीठे, हलके खट्टे और कसैले होते है |
  • जामुन का वृक्ष 8 से 10 साल के बाद फल देना प्रारंभ करता है और इसकी आयु लगभग 50 से 60 साल तक होती है |

One thought on “जामुन का पेड़ – Jamun Tree Information in Hindi

  1. M.R.Saraf

    Hmara jamun ka ped kaphi lamba hai. Hilate nhi phir bhi branches tutati hai, kya Lee?.please guide us

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *