Croton Plant Information in Hindi – क्रोटन प्लांट

By | October 9, 2019

यह एक छोटा सा क्रोटन प्लांट दिखने में रंग-बिरंगे होते हैं, और इसलिए इसलिए Croton ज्यादातर गार्डन में तथा घरों के बाहर लगाया जाता है | कई बार इस Croton को indoor-plant के तौर पर भी उपयोग किया जाता है | अगर आपको भी अपने घर की खूबसूरती को बढाना है, तो इस पौधे को जरूर लगाये | अगर आप जानना चाहते है की क्रोटन प्लांट को  कैसे लगाया जाता है और इसकी देखभाल कैसे किया जाता है तो यहाँ पढ़े |

Croton Plant in Hindi

Croton Plant का Scientific name: Codiaeum variegatum  

क्रोटन का परिचय / Introduction of Croton Plant

इस पौधे का एक और नाम रुश्फ़ोइल प्लांट है | क्रोटन “स्परेज” परिवार का एक रंगीन लीक पौधा है, इसका नाम क्रोटन एक Greek word Greekρoτο k (krotos) से आया है, इसका अर्थ होता है ‘टिक’ और यह कुछ प्रजातियों के बीजों की आकार को भी दर्शाता है | यह पौधा ज्यादा बड़ा नहीं होता है परन्तु दिखने में बहुत ही खूबसूरत लगता है, जिसके कारण लोग इस पौधे को बहुत पसंद करते हैं और अपने घरों में लगाते हैं |

प्रजातियाँ  / Varieties

वैसे तो क्रोटन के बहुत सारे किस्मे होते हैं उन्ही में से कुछ किस्मे निम्नलिखित प्रकार से दिए गए हैं :-

  • Bush on Fire Croton
  • Oakleaf Croton
  • Eleanor Roosevelt Croton
  • Mammy Croton
  • Iceton Croton
  • Banana Croton
  • Magnificent Croton
  • Gold Sun Croton

पत्ते  / Leaves of Croton

आमतौर पर क्रोटन के पत्ते सदैव रंग बिरंगे होते हैं तथा चमकीले होते हैं, जिससे रंग बिरंगे पत्ते चमक उठते हैं | इन पत्तियों को लाल, हरा, पीला, गुलाबी, आदि जैसे कई रंगों में पाए जाते है |

इसकी पत्तियां 10-16 सेंटीमीटर 4-4 इंच लंबे होते हैं और इन पत्तियों के रेखाए लम्बाकार होते हैं | इसके  पत्ते  रैखिक और लांस के आकार से अंडाकार अथवा घुमावदार होते हैं |

जलवायु / Climate

उष्णकटिबंधीय जलवायु में क्रोटन के पौधे अच्छी तरह से बढने के लिये अनुकूल होते है, यह गर्म परिस्थितियों को पसंद करते हैं। तापमान 55 डिग्री फ़ारेनहाइट से कम हो जाये, तो पौधे की पत्तियाँ भूरे रंग की होने लगते हैं। अर्थात 80 डिग्री फ़ारेनहाइट तापमान या उससे नीचे के तापमान पर पौधा सबसे अच्छी तरह पनपेगा ।

देखभाल कैसे करे / How to Take Care Of Croton Plant

Varieties of Croton Plants

इस तरह के पौधे की देख भाल करने में ज्यादा दिक्कत नहीं होती है | इस पौधे को ऐसे स्थान पर रखे जहां ज्यादा धुप भी न लगे और ज्यादा छांव भी न लगे क्यूंकि अगर आप इसे ऐसे स्थान पर रखते हैं, तो इसके पत्ते सूखने लगते हैं या गिरने लगते हैं | असल में अगर कहा जाए तो यह पौधा जितना खूबसूरत है उतना नाजुक भी है, इसलिए इसे किसी आँगन या कमरे में रखे जहाँ हलकी सूर्य की रौशनी आती हो |

इसमें 2 से 3 हफ्ते में सिर्फ एक बार पानी डालने से यह जीवित रह सकता है | इसके बढ़ने में थोडा समय लगता है जो अपने मौसम के अनुसार 12 इंच से कम की ऊँचाई तक बढ़ पाता है, इस पौधे में मोटे, घने पत्ते होते हैं जिसके कारण यह क्रोटन आमतौर पर 3 से 8 फीट की ऊंचाई तक ही बढ़ते हैं, यह एक ईमानदार, अंडाकार उपस्थिति देते हैं |

फायदे / Uses & Benefits of Croton Plant

यह एक indoor plants है जो की अन्दर की हवा को साफ़ करता है, इसके अलावे भी इसके कई benefits है |  जब क्रोटन के पौधे खिलकर उगते हैं तो घरो में एक अलग सी चमक नजर आती है | यह क्रोटन एक सुंदर घर को और खूबसूरत बनाने में काफी मदद करता है | क्रोटन के पौधों को बागों में उगाया जाता है तो मानो बागों में नयी रौशनी आ जाती है, सारी बागे जगमगा उठती हैं |

  • इस पौधे का उपयोग एक शुद्ध दवा के रूप में किया जाता है |
  • दांत दर्द से पीड़ित होने पर आप इसका इस्तेमाल भी कर सकते हैं |
  • कभी-कभी लोग इसका उपयोग फ्लू और सर्दी के इलाज के लिए करते हैं |
  • Croton Tiglium तेल का उपयोग पारंपरिक चीनी चिकित्सा में गंभीर कब्ज, घावों को ठीक करने के लिए किया जाता है |
  • यदि किसी को  खुजली या एक्जिमा जैसी बिमारी में इसका उपयोग किया जाता है  |
  • दस्त या पेचिस जैसी समस्याएं में भी क्रोटन का उपयोग किया जाता है  |

और अधिक जानकारी के लिए आप इस Reference site पर जा सकते हैं :- https://www.uaex.edu/yard-garden/in-the-garden/reference-desk/houseplants/croton.aspx

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *